विजन

 

01 एन0 सी0 एफ0 2005 एवं आर0 टी0 ई0 एक्ट -2009 को ध्यान में रखते हुए प्रशिक्षुओं (भावी शिक्षक) को प्रशिक्षित करते हुए उत्तक्रस उत्त्क्रस्थ मार्गदर्शन संस्थान के रूप में काम करना। प्रशिक्षुओं का ज्ञानात्मक के साथ साथ क्रियात्मक, रचनात्मक, भावात्मक, स्रजनतमक विकास करना।

 

02 अपवंचित वर्ग के बच्चों की शिक्षा पर विशेष एवं शिक्षा की मुख्य धारा से जोड़ना, बालिकाओं की शिक्षा के स्तरोन्नयन हेतु निर्न्न्तर निरंतर प्रयास किया जाता हैं।

 

03 विद्यालयों की समस्याओं की पहचान कर के बच्चों एवं विद्यालयों की शैक्षिक समस्याओं का चिंहांकन कर के क्रियात्मक शोध द्वारा नीरकरण करना ।

 

बालिकों की शिक्षा की दिशा में अध्ययन तथा शैक्षिक उन्नयन हेती निरंतर स्थलीय अभिप्रणात्मक योजना बनाना ।